13 Comments Add yours

  1. Koshish says:

    Great lyrical imagery and gentle progression of thoughts in each line. An snapshot of time painted with words. A good poem to repeat and relive the magic of nature.

  2. शिशिर सोमवंशी says:

    बेहद ख़ूबसूरत शाम का ख़ाका खींचा है । लफ़्ज़ों की हसीन कारीगरी। मुबारकबाद।

  3. दिव्या 'आईना ' says:

    बेहतरीन कविता ..
    आजसिरहाने के इज़ल पर रोशनी का कैनवस लगा है और सुप्रिया जी नें बेहतरीन पेंटिंग उकेरी हो जैसे..।
    बहुत बहुत अभिनंदन।

  4. preetkamal22 says:

    Image of a beautiful evening woven with equally splendid words… Nazron ke saamne shaam jawaan ho gayee, iss kudrat ke karishme ko kitni khoobsoorti se sajaya aapne!

  5. mohdkausen says:

    लाजवाब मखमली लफ़्ज़ो का इतना खूबसूरत इस्तेमाल और एक दिलकश,दिलरुबा शाम की ऐसी मंजर निगारी बाकमाल है। एक बार को तो मुझे यकीन नही हुआ.कि ये आप की अपनी नज़्म है(अपनी सोच पर मैं शर्मिंदा हूँ।) , उर्दू के ऐसे नाजुक एहसासात का जलसा काफी के दिनों बाद पढ़ा है। मुबारकबाद कबूल करे।

  6. Shahnaz Imrani says:

    बेहतरीन कविता

  7. अरे वाह इतनी खूबसूरत शाम..सुंदर

  8. Kunal Kushwah says:

    सुप्रिया जी, बहुत बधाई ! बहुत समय बाद लय वाली कविता पढ़ी! जियो!

  9. Mili says:

    Wonderful introduction followed by the poem. Impressive imagery and symbolism in the poem. Congratulations!

  10. Fatima kolyari says:

    बेहद खुबसूरत शाम …..काविता पढ़ते पढ़ते खो सी गयी…!!

  11. Balwant says:

    Very nice poem, representation using great symbol…:) Congrtz…(Y)

  12. sacredheartsip says:

    मुझे लगा भी नहीं था के मेरी नज़्म रौशनी में प्रकाशित हो सकती है। आप सब के प्रोत्साहन और प्रेम के लिए धन्यवाद

  13. ajaypurohit says:

    सुप्रिया, आप की इस रचना में आपकी कला की झलक है ! शुभकामनाएँ व आशीर्वाद ।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s