5 Comments Add yours

  1. भई ये अनुराधा शर्मा तो कमाल की लड़की हैं!!! ऐसा लगा कि शायद ये ख़त मेरे लिए ही लिखा गया था। बहुत बहुत धन्यवाद इतना सुन्दर पत्र लिखने के लिए, एक बार फिर से “ये ज़मी चाँद से बेहतर नज़र आती है हमें……”

    जीती रहिये और खूब जीती रहिये।।
    🙂 🙂 🙂

    1. AS says:

      शुक्रिया अंशु :))

  2. Nirmal says:

    Khoobsoorat zazbaat.. Sabhi ke.. Shukriya doston

  3. sacredheartsip says:

    आत्महत्या सिर्फ मरने वाले को नहीं मारती , उससे जुड़ने वाली कई उम्मीदों, सपनो, ज़िमेदारियों और चाहतों को भी मार देती है।

    खुद को और खुद से जुड़ी हर चीज़ को मार देना और उस हत्या के बोझ को अपनी आत्मा की स्मृतियों में युगों युगों तक ले जाना शायद सबसे मुश्किल काम होता होगा..

    जो लोग ऐसा विचार भी अपने मन में लाते हैं उनसे कहना चाहती हूँ के अगर आप ये कर सकते हैं तो दुनिया में ऐसा कोई काम नहीं जो आप नहीं कर सकते.. कोई ऐसी मंज़िल नहीं जो हाँसिल नहीं कर सकते.. आप दुनिया बदल सकते हैं बस नज़रिया बदल कर देखिये

  4. Heart-touching pieces, these lines give new hope & pep up people to fight out the issues in their lives. Remember Life is one time opportunity to contribute towards mankind, giving up means you are wasting a golden opportunity given by God to contribute. In my words ‘Love Life Live Life’ – follow these words & stay inspired.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s