दीर्घ कथा संकलन : April 2017

परिणाम बड़ी कहानियाँ लिखना आसान कार्य नहीं है। पात्रों के चरित्र की स्थापना के साथ साथ कथानक में पर्याप्त घटनाक्रम का समावेश करना होता है। किन्तु यही तो कहानियों की लोकप्रियता का आधार है और इसी कारण अच्छा कहानीकार कभी भी पाठकों से विहीन नहीं रहता। आज सिरहाने की कहानी सुहानी प्रतियोगिता में हम लंबी…

Antarnaad : Anshu Bhatia

खिड़की से आते हुए भीने-भीने हवा के झोंके बिनोद के चेहरे पर से उसके बालों को उड़ा रहे थे| वो हवा के मज़े कम ले रहा था, अपने नाखून ज़्यादा चबा रहा था| बस रुक गयी और बस-कंडक्टर ने उसे घूरा व नीचे उतरने का इशारा किया| उसके नाखून चबाने की गति लगभग दोगुनी हो…

Baat Ek Raat Ki : Anshu Bhatia

चलती हुई ट्रेन की खिड़की से बाहर झांकना निलेश को हमेशा से बहुत पसंद था…आगे बढ़ने के साथ-साथ पीछे जाते हुए पेड़-पौधे देख उसका मन प्रफ्फुलित हो उठता| बाहर से आती हुई ठंडी हवा और कानों में गूंजता हुआ मधुर संगीत…अहा!! अपने ख्यालों में खोया हुआ निलेश एक अलग ही दुनिया की सैर कर रहा…

Pratibimb : Anamika Purohit

कुछ काम की फ़िक्र, तो कुछ अपनी छवि की, या, यूँ कहें, कि इमेज की। दोनों का बोझ मयंक पर काफ़ी भारी था। इसलिए यह सृजन की दुनिया में खोए हुए युवा नाटककार कभी-कभार मदिरा-पान कर लिया करते थे। इससे इनके लेखन में फुर्ती, और इनकी छवि में “एक्स फ़ैक्टर” आ जाता था। नहीं-नहीं, पियक्कड़…

Aparichit : Kanchi Agrawal

मुम्बई  के पास एक छोटा सा शहर जिसका हाईवे  मुम्बई  से वडोदरा हाईवे से सटा हुआ था….. रात दुल्हन की तरह सितारों सी जगमगाती बहुत ही खूबसूरत लग रही थी। अभी अभी बारिश होकर चुकी थी। गीली सड़कें और भी खूबसूरत लग रही थीं।  दूर से छप छप की आवाज़ का शोर और एक अजनबी…

Do Ajnabi : Archana Aggrawal

दो अजनबी  लेखिका : अर्चना अग्रवाल बार में घुसते ही उस गौरांग सुदर्शन युवक ने चारों ओर दृष्टि दौड़ाई तो सारी मेजें भरी हुई थीं । मन में आया इस छोटे से शहर में इतने पीने वालें कहाँ से जुट गए तभी काँच की खिड़की के समीप वाली मेज जिस पर दो व्यक्ति ही बैठ…

दीर्घ कथा संकलन : Feb 2017

परिणाम कहानियाँ लेखक की रचनात्मकता एवं कल्पनाशीलता को प्रतिबिम्बित करती हैं। कहानी मे कथानक की नवीनता अनिवार्य अंग है जिसे शब्द, संवाद एवं लेखन शैली के सुंदर तानेबाने में सँजो कर इस रूप में पाठक के समक्ष प्रस्तुत करना होता है कि उसका पढ़ने का कौतूहल हर वाक्य के साथ बढ़ता चला जाए। यही एक कथा की…

Sohbat : Anamika Purohit

Kahani Suhani : Selected Stories : Second Winner सोहबत लेखिका : अनामिका पुरोहित   ——– “बड़े ओल्ड-फ़ैशंड मालूम होते हैं, आप!” “जी? आपने मुझ से कुछ कहा?” “जी हाँ, आप ही हैं न, लेखक चंद्रभान शर्मा, जिनकी नई किताब ‘कहीं, किसी रोज़’ पिछले माह ही लाउंच हुई है?” “जी, बिलकुल! आपने कैसे जाना? मैं तो बुक-लाउंचेस…

Tasveer : Anshu Bhatia

Kahani Suhani : Selected Stories : Third Winner तस्वीर लेखिका : अंशु भाटिया  चंदर फूलों का बेहद शौक़ीन था| सुबह घूमने के लिए उसने दरिया किनारे की बजाय अल्फ्रेड पार्क चुना था क्योंकि पानी की लहरों की बजाय उसे फूलों के बाग़ के रंग और सौरभ की लहरों से बेहद प्यार था| और उसे दूसरा…

Bikharte Hue Rang : Shikha Saxena

Kahani Suhani : Selected Stories : First Winner बिखरते हुए रंग लेखिका : शिखा सक्सेना  “चंदर फूलों का बेहद शौकीन था । सुबह घूमने के लिए उसने दरिया किनारे के बजाय अल्फ्रेड पार्क चुना था क्योंकि पानी की लहरों के बजाय उसे फूलों के बाग के रंग और सौरभ की लहरों से बेहद प्यार था…