Durjoy : Mohammed Kausen

“चल मीना अब तेरा नंबर है अच्छे से नाप देना।” सपना ने पास खड़ी मीना को हाथ से खींच कर दर्ज़ी के सामने खड़े करते हुए कहा। “और हाँ चाचा इसका नाप थोड़ा टाइट रखना।” ठीक है बेटा दर्ज़ी चाचा ने अपनी ऐनक सही करते हुए कहा। “पर दीदी टाइट चोली में दम घुटता है।”…

Maryam : Mohammed Kausen

“अरे….आओ आओ रामदुलारी बहन आज हमारे घर का रास्ता कैसे याद आ गया। जब से मौहल्ला छोड़ा है तुम तो जैसे हमे भूल ही गई।” “नही बिलक़ीस आपा कैसी बाते करती हो। अपनों को भी भला कोई भूलता है। वो तो बस काम में वक़्त ही नही मिल पता। खैर छोडो ये लो मिठाई खाओ…

Badchalan .. By Preet Kamal

Badchalan’ is a touching story narrated by Preet Kamal. What could have been a more potent and just treatment to a master-piece written by Mohammed Kausen.

Week 13 : The Wisdom Of Our Follies

सेल्समेन By Mohammad Rizwan @Rizwan1149 शोरूम में हमारे प्रवेश करते ही एक १५-१६ साल का लड़का आगे आया। “आईये दीदी किया देखेंगी सूट या साड़ी?” “साड़ी दिखाओ… पार्टी वियर…” थोड़ी ही देर में एक के बाद एक कई साड़ियों का उसने चठ्ठा लगा दिया। “इनमे से आपको कोई पसंद नहीं”? उसने पूंछा काउंटर पैर बैठे…

Week 12: Zindagi, inki bhi ..

Dear readers .. We have worked really hard to put these stories on the tab for you. If you like a story, mention a few words of encouragement to the writer and tag us. Spread some love. 🙂   विज्ञापन by Mohammad Rizwan @Rizwan1149 {Appreciated By Guest Editor} अशोक मित्तल, शहर में बन रही एक…