Haqiqat .. by Rahulshabd

With his heart rending short story that scorns and questions the age old practicality vs morality conflict in modern world.. and an impassioned poem written by himself, Rahul is all set to touch the hearts with his versatility. Anuradha हकीक़त Written & Narrated by: @Rahulshabd बस ये दिखाने की कोशिश के कितने पाखंडी हैं हम…     क्या…

Rachna .. A story By Rahulshabd

Rahul is a wonderful story-teller. The best thing about this story is the narration. The way he moves between flamboyant and understated styles, makes it an engaging read. This story will stay with you for a long time. Anuradha Story Title: रचना Name: राहुल @rahulshabd मानव तस्करी के बारे में सोचते सोचते इस किस्से ने…

Week 8 : यह गुलसिताँ हमारा

{Note From Guest Editor @kuhu_bole : “Class of 2016, इस बार शानदार कहानियां मिली हैं। कहा था ना हिंदुस्तान में जितने रंग है उतनी कहानियां मिल सकती हैं। शब्दों की सीमा में रहकर बहुत अच्छी कहानियां लिखी गई हैं। इनमें से कोई एक कहानी चुनना बहुत ही मुश्किल लगा।” } एक सड़क By Varun K….

Week 07: A Salute To Army Women

Note From Guest Editor Narpati Chandra Pareek : आज  सिरहाने द्वारा मुझे 10 कहानियाँ पढ़ने के लिए दी गई,आग्रह था कि एक दिन में इन्हें पढ़ कर किसी एक को सर्वश्रेष्ठ घोषित करूँ !अधिकांश लघु कहानियाँ उच्च कोटि की प्रतीत हुई ! श्रेष्ठ कहानी के चयन के लिए मैंने कहानी-समालोचना की परंपरागत कसौटी को अपनाने…

‘फ्लैशबैक’ By Fayaz & Nimit

लेखक जोड़ी नंबर 1 : Fayaz & Nimit कहानी : ‘फ्लैशबैक’ “आप को अगर मिलना है तो कहीं और मिलिये, मैं उस कमरे में नहीं आऊंगा”, राज ने नारायण शंकर से कहा। “कैसे नहीं जाओगे बे? हम तुम्हे घसीटते हुए ले जायेंगे।” राज को मजबूर होकर उस कमरे में आना ही पड़ा जहाँ मेघा की…

Week 6 : बड़ा दिन, छोटा सांता

A Special Message From Gayatri, Our Guest Editor of the Week (@gayatriim) विवेक की संजीता तस्वीर खुद में एक कहानी कहती है – एक रेल का डब्बा या यूं कहिए भारतीय समाज के मध्यवर्गीय नागरिकों की लाइफलाईन स्लीपर क्लास का डब्बा और लोहे की सलाखों वाली खिड़की से बाहर झांकती नन्हे सांता की मासूम आंखें,…