Devvrat : Sushil Kumar

लाजवंती जब जेल पहुंची तो थानेदार उसे देख कर परेशान हो गया .. “लाजवंती जी, आप फिर आ गयी।” “एक बार और कोशिश कर के देख लीजिये न.. शायद वो इस बार मिलना चाहें। उन्हें बहुत कुछ ज़रुरी बताना है।” “पांडे, कैदी ६७० को ले कर आओ ” थानेदार ने लाजवंती का मन रखने के…